मोदी नहीं, अब प्रियंका गांधी के निशाने पर योगी, 24 घंटे में इन 4 मुद्दों पर घेरा

प्रियंका गांधी वाड्रा ने चार ऐसे मुद्दे उठाए हैं, जिन्हें लेकर यूपी की जनता के बीच नाराजगी देखने को मिलती रही है. इनमें गन्ना किसान, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशाकर्मी और शिक्षामित्रों की मांग शामिल है. प्रियंका गांधी ने सीएम योगी की घेराबंदी रविवार को उस वक्त शुरू की थी, जब योगी को गन्ना लैंड पश्चिम उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में रैली करने जाना था. एक खबर का हवाला देते हुए प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया और लिखा कि गन्ना किसानों के परिवार दिनरात मेहनत करते हैं, मगर यूपी सरकार उनके भुगतान का भी जिम्मा नहीं लेती.

लोकसभा चुनाव में पूर्वी उत्तर प्रदेश का जिम्मा संभाल रही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की चुनावी रणनीति में बड़ा बदलाव नजर आ रहा है. प्रयागराज से वाराणसी तक गंगा बोट यात्रा के दौरान प्रियंका ने अपने भाषणों में प्रमुखता से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों का विरोध किया, लेकिन पिछले 24 घंटों में उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सीधा टारगेट किया है. दिलचस्प बात ये है कि योगी को घेरने के लिए प्रियंका ने यूपी के मुद्दों को ही चुना है.

प्रियंका गांधी वाड्रा ने चार ऐसे मुद्दे उठाए हैं, जिन्हें लेकर यूपी की जनता के बीच नाराजगी देखने को मिलती रही है. इनमें गन्ना किसान, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशाकर्मी और शिक्षामित्रों की मांग शामिल है. प्रियंका गांधी ने सीएम योगी की घेराबंदी रविवार को उस वक्त शुरू की थी, जब योगी को गन्ना लैंड पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में रैली करने जाना था. एक खबर का हवाला देते हुए प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया और लिखा कि गन्ना किसानों के परिवार दिनरात मेहनत करते हैं, मगर यूपी सरकार उनके भुगतान का भी जिम्मा नहीं लेती. सिर्फ इतना ही नहीं, अब तक पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ चौकीदार चोर है नारे का इस्तेमाल कर रही कांग्रेस की रणनीति से थोड़ा आगे बढ़कर प्रियंका गांधी ने सीएम योगी के लिए भी इस शब्द का इस्तेमाल किया और कहा कि चौकीदार सिर्फ अमीरों की ड्यूटी करते हैं, गरीबों की इन्हें परवाह नहीं है. योगी के खिलाफ प्रियंका के आक्रामक मोड का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि उन्होंने अब तक किए गए अपने कुल 12 ट्वीट्स में 4 योगी सरकार के खिलाफ किए हैं.

admin