अवसान / पूर्व केंद्रीय मंत्री जयपाल रेड्डी का 77 साल की उम्र में निधन

हैदराबाद. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री एस जयपाल रेड्डी का 77 साल की उम्र में निधन हो गया। वे निमोनिया से पीड़ित थे। इसके लिए उन्हें एआईजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एक कांग्रेस नेता के मुताबिक, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में शनिवार देर रात 1.30 बजे अंतिम सांस ली। वे 1998 में पूर्व प्रधानमंत्री इंद्रकुमार गुजराल की सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्री भी रहे।

रेड्डी का जन्म 16 जनवरी 1942 को हैदराबाद के मदगुल में हुआ था। अब यह तेलंगाना राज्य के अंतर्गत आता है। उनके परिवार में एक बेटी और दो बेटे हैं। रेड्डी तेलुगु राजनीति में दिग्गज नेता माने जाते थे। अविभाजित आंध्र प्रदेश में वे 4 बार विधायक और 5 बार सांसद चुने गए।

रेड्डी ने इमरजेंसी में कांग्रेस छोड़ दी थी
यूपीए-1 में उन्होंने शहरी विकास मंत्रालय की जिम्मेदारी भी संभाली। यूपीए-2 में उनके पास शहरी विकास मंत्रालय और पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय की जिम्मेदारी रही। 2009 के लोकसभा चुनावों में रेड्डी चेवेल्ला लोकसभा सीट से सांसद चुने गए। जब इंदिरा गांधी ने देश में इमरजेंसी लागू की थी तो रेड्डी ने 1977 में कांग्रेस छोड़कर जनता पार्टी का रुख कर लिया था। इसके बाद 1999 में उनकी कांग्रेस में वापसी हुई थी।

मोदी और राहुल ने जताया दुख
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘‘जयपाल रेड्डी को सालों तक सार्वजनिक जीवन का अनुभव था। वे बेहतरीन वक्ता और कुशल प्रशासक थे। उनके निधन का मुझे दुख है। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।’’
राहुल गांधी ने कहा, ‘‘पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता जयपाल रेड्डी गारु के निधन का सुनकर दुख हुआ। वे बेहतरीन सांसद, तेलंगाना के महान बेटे थे। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी लोगों की सेवा के लिए समर्पित कर दी।’’

jmradmin